Reprogram Subconscious Mind Fundamentals Explained






Not rather! This kind of desire and precognitive desires both equally tumble into the significant aspiration classification, but this is simply not an illustration of a precognitive desire. Attempt An additional answer...

उस दिन से मालूम नहीं वह कौन-सा आकर्षण था जो मुझे रोज शाम के वक्त आनंदवाटिका की तरफ खींच ले जाता। उसे मुहब्बत हरगिज नहीं कह सकते। अगर मुझे उस वक्त भगवान् न करें, उस लड़की के बारे में कोई, शोक-समाचार मिलता तो शायद मेरी आंखों से आंसू भी न निकले, जोगिया धारण करने की तो चर्चा ही व्यर्थ है। मैं रोज जाता और नये-नये रुप धरकर जाता लेकिन जिस प्रकृति ने मुझे अच्छा रुप-रंग दिया था उसी ने मुझे वाचालता से वंचित भी कर रखा था। मैं रोज जाता और रोज लौट जाता, प्रेम की मंजिल में एक क़दम भी आगे न बढ़ पाता था। हां, इतना अलबत्ता हो गया कि उसे वह पहली-सी झिझक न रही।

“पहले तो मैं चाय बनाने लगा देती हूँ और फिर पोहा बनती हूँ. वो जल्दी बन जाएगा.”, उसने खुद से कहा. सुमति सब कुछ एक परफेक्ट गृहिणी की तरह कर रही थी. उसने गैस पर चाय का बर्तन चढ़ाया और फिर प्याज और आलू काटने लगी पोहा बनाने के लिए.

Everyone knows We've got a subconscious, but for Many of us, our familiarity with it ends there. Your subconscious mind is a next, concealed mind that exists within just you.

वैसे तो सुमति थोड़ी अधिक जवान थी, और नए कदम लेने से कभी घबराती नहीं थी, वो सही मायने में इंडियन लेडीज क्लब की लीडर थी. जबकि अंजलि सबको प्यार देने वाली औरत थी जो एक छोटे गाँव में पली बढ़ी थी. अभी वो अपने रुढ़िवादी माता-पिता के साथ रहती है. उसके माता पिता ने उसकी शादी एक नीता नाम की लड़की से की थी जो कि उसीकी तरह एक गाँव में पली बढ़ी थी. नीता को बचपन से सिखाया गया था कि उसे बस घर परिवार को संभालना है और अपने पति को भगवन मान कर उसकी सेवा करनी है. नीता अपने सास-ससुर की सेवा में कोई कमी नहीं होने देती थी. पर जबसे उसने बेटी को जनम दिया है, अंजलि के माता पिता ने नीता का जीना मुश्किल कर रखा था. उन्हें तो बेटा चाहिए था. पर अंजलि एक अच्छे पति का कर्त्तव्य निर्वाह करते हुए हमेशा नीता का बचाव करती थी. नीता के लिए, अंजलि एक पुरुष के रूप में सबसे अच्छा पति था… उससे अच्छा कुछ नीता जैसी लड़की के लिए नहीं हो सकता था.

सुमति सुन सकती थी कि किसी ने दरवाज़ा खोल दिया था तब तक. “नमस्ते अंकल

“रोहित!!”, सुमति ख़ुशी के मारे उछल पड़ी. आखिर, अपने भाई को देख कर खुश कैसे न हो.

साड़ी का ब्लाउज सुमति के सुडौल स्तनों पर अच्छी तरह फिट आ गया था. उसे अपना लुक अच्छा लग रहा था. पर वो अपने सफ़ेद पेटीकोट को लेकर डाउट में थी.

सुमति को आज बहुत काम करने थे इसलिए उसने एक हलकी क्रेप साड़ी पहनना तय किया. आज तो इस क्लब के लिए ख़ास दिन है. और आज इस क्लब में बहुत भीड़ भी होने वाली है. बेचारी सुमति को भी न आज न जाने कितने काम करने है. अगले get more info एक घंटे में आदमियों का झूंड जो इकट्ठा हो जाएगा और फिर शुरू होगा उनका ट्रांसफॉर्मेशन सुन्दर औरतों में! कोई अनारकली पहन इठलायेगी, तो कोई बड़े से घेरे वाली लहंगा चोली पहन कर बलखाएगी, कोई छोटी छोटी वेस्टर्न ड्रेस पहन कर इतराएगी तो कोई फूल के प्रिंट वाली साड़ी पहन कर शर्माएगी या फिर साउथ इंडिया की सिल्क साड़ी पहन कर मुस्कुराएगी. जल्दी ही सुमति का घर उस घर में बदल जायेगा जहां मानो शादी की तैयारियां हो रही होगी और कहीं दुल्हन और उसकी सखियाँ सज संवर कर तैयार हो रही होगी.

औरत का बदन भी एक पहेली की तरह होता है जिसे सुलझाना होता है. हर एक अंग पर स्पर्श एक बिलकुल अलग अहसास उस औरत में जगाता है. तभी तो आदमी औरत को हर get more info जगह छूना चाहते है क्योंकि हर स्पर्श से वो औरत कुछ नए अंदाज़ में लचकती है, मचलती है. और सुमति के लिए तो ये स्पर्श का आनंद कुछ अधिक ही था. अब तो वो खुद एक औरत के जिस्म में थी. अपने खुद के स्पर्श से ही उसे आनंद मिल रहा था जैसा उसने पहले कभी अनुभव नहीं की थी. और इसलिए उसके अन्दर खुद को छूकर देखने की जिज्ञासा बढती जा रही थी. वो धीरे धीरे अपने तन पर अपनी उँगलियों को सहलाते हुए अपने हर अंग में छुपे हुए आनंद को भोगना चाहती थी.

बड़े भाई के रूप में भी सुमति अपने छोटे भाई रोहित को हमेशा से ही प्यार करती थी और उसका ध्यान रखती थी.

‘Friends normally do have a little something to get from each other, whether it is companionship or affirmation of existence.’

"I'm positively conversing with myself and always chanting a mantra which provides me self-assurance and visualization of my dreams and wants. "..." much more Robinsh Sharma

"My method matched with one of the details, Imagine positively and absolutely nothing will arrive unfavorable in your mind." MP Meldana Powsid

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15

Comments on “Reprogram Subconscious Mind Fundamentals Explained”

Leave a Reply

Gravatar